वो जिन्दगी में आते ही क्यों हैं ………

Spread the love

वो जिन्दगी में आते ही क्यों है .....

वो जिन्दगी में आते ही क्यों है,

यूँ देखकर मुस्कराते क्यों है l

जुदाई का दर्द सहा नहीं जाता ,

यूँ अकेला छोड़कर जाते क्यों है II

पहले तो जी भर कर हंसाते है हमको ,

फिर टूटे दिल तक रुलाते क्यों है I

हर पल खुशियों  से भर देते है झोली,

फिर नाराजगी से सताते क्यों है II

जिसके बिना कोई रौनक नहीं थी ,

उसको ही महफ़िल से भगाते क्यों है I

जब दुश्मन के जैसी करनी थी हरकत,

तो पहले अपनापन जताते क्यों है ll

जिन्दगी तो अकेले ही कटनी थी अकेलानंद,

फिर किसी को अपना  बनाते क्यों है l

प्यार ही सब कुछ होता था यारो,

ऐसी अफवाह फैलाते क्यों है II

इसे भ पढ़े : ऐ मुसाफिर आज तू फिर से अकेला हो गया 


Leave a Comment

Your email address will not be published.