रिश्ते तोड़ने से अच्छा है दूरिया बना ले-

Spread the love

अगर एक इंसान की वजह से परिवार में कलह और अशांति फ़ैल रही हो तो उसे अलग कर देना चाहिए। ऐसा भी हो सकता है वह अकेला व्यक्ति अपनी जगह सही हो या ऐसा भी तो हो सकता है की सिर्फ वही सही ह। परन्तु बाकी लोगो की मानसिकता उसके खिलाफ है इस स्थिति में उस व्यक्ति को स्वयं ही उनसे दूर हो जाना चाहिए।

अगर आप अपने रिश्ते को बरक़रार रखना चाहते है तो या कोई बड़ी बात नहीं है, अगर आपने दुरी बना ली तो बाद में नजदीकियां हो सकती है, लेकिन अगर अपने रिश्ते तोड़ने की कोशिश की तो आप उसे फिर जोड़ नहीं सकते।
होता यूँ है की बाकि परिवार के लोग जिनकी मानसिकता एक जैसी है अगर उनके बीच में किसी भी तरह का मनमुटाव या वाद विवाद होता है तो कुछ दिन बाद सब कुछ सामान्य हो जाता है ,
परन्तु यदि ऐसा आपके साथ होता है तो सभी लोगो को कुछ ज्यादा ही ठेस पहुँचता है क्योकि आपसे ऐसी उम्मीद नहीं होती, भले ही आपने सही सुझाव दिया हो या सही आवाज उठाई हो, इस स्थिति में सब आपके खिलाफ हो जाते है।

अतः आपको अपने मानसिक स्थिति को बिलकुल ही सामान्य अवस्था में रखकर निर्णय लेना चाहिए।

इसे भी पढ़े – अनचाहे रिश्तो में कोई स्थिरता नहीं होती

Leave a Comment

Your email address will not be published.